शुक्रवार, 18 दिसंबर 2009

चुपचाप बारिश

*


शहर में चुपचाप बारिश
काँच पर
रह-रह बरसती है
कि जैसे
दर्द पीकर
ज़िंदगी
सपने निरखती है।

3 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी भाषा आपके व्यक्तित्व की परिचायक है......
    खूबसूरत एहसास

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह ! इस के अलावा तो कोई शब्द ही नहीं निकलता इस क्षणिका पर...ma'am को माँ गए...

    उत्तर देंहटाएं